Indian Navy Says Malabar Wargames Showed Exceptional Military Skills Of The Four Participating Countries – मलाबार वारगेम्स ने दिखाया चारों प्रतिभागी देशों का असाधारण सैन्य कौशल : नौसेना

मालाबार नौसेना अभ्यास
– फोटो : twitter : @indiannavy

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for simply ₹299 Restricted Interval Provide. HURRY UP!

ख़बर सुनें

भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं ने एक साथ आकर सैन्य अभ्यास कर महासागरों में अपनी आधिपत्यवादी प्रवृत्ति का प्रदर्शन कर रहे चीन को एक संकेत दिया है। भारतीय नौसेना के रियर एडमिरल कृष्णा स्वामीनाथन ने शनिवार को कहा कि मलाबार-2020 वारगेम्स में चारों ही प्रतिभागी देशों के असाधारण सैन्य कौशल को दिखा।

मलाबार के 24वें संस्करण के दूसरे चरण का समापन शुक्रवार को हुआ। इस दौरान चारों देशों की नौसेनाओं ने दो चरणों में बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में अपनी सैन्य कौशल का प्रदर्शन किया।

फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग वेस्टर्न फ्लीट रियर एडमिरल स्वामीनाथन ने कहा कि इस संस्करण में हमारे कई यूनिक पहलू सामने आए। इनमें से तीन असाधारण रहे। पहली बार हमने दो चरणों में सैन्य अभ्यास किया। पहला चरण बंगाल की खाड़ी और दूसरा चरण अरब सागर में आयोजित किया गया। यह भी पहली बार है कि भारतीय प्रायद्वीप में ही स्थित दोनों समुद्र में अभ्यास हुआ। दूसरा, इसमें अमेरिकी नौसेना, जापान की मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स, रॉयल ऑस्ट्रेलियन नेवी और भारतीय नौसेना ने हिस्सा लिया।

लंबे अंतराल के बाद यह कोरम पूरा हुआ है। तीसरा, विभिन्न देशों की सेनाओं के बीच असाधारण सैन्य कौशल का प्रदर्शन हुआ। अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं ने मलाबार सैन्य अभ्यास को काफी सफल करार दिया और योजना, नेतृत्व, क्रियान्वयन और मेहमाननवाजी के लिए भारतीय नौसेना का धन्यवाद किया।

भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं ने एक साथ आकर सैन्य अभ्यास कर महासागरों में अपनी आधिपत्यवादी प्रवृत्ति का प्रदर्शन कर रहे चीन को एक संकेत दिया है। भारतीय नौसेना के रियर एडमिरल कृष्णा स्वामीनाथन ने शनिवार को कहा कि मलाबार-2020 वारगेम्स में चारों ही प्रतिभागी देशों के असाधारण सैन्य कौशल को दिखा।

मलाबार के 24वें संस्करण के दूसरे चरण का समापन शुक्रवार को हुआ। इस दौरान चारों देशों की नौसेनाओं ने दो चरणों में बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में अपनी सैन्य कौशल का प्रदर्शन किया।

फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग वेस्टर्न फ्लीट रियर एडमिरल स्वामीनाथन ने कहा कि इस संस्करण में हमारे कई यूनिक पहलू सामने आए। इनमें से तीन असाधारण रहे। पहली बार हमने दो चरणों में सैन्य अभ्यास किया। पहला चरण बंगाल की खाड़ी और दूसरा चरण अरब सागर में आयोजित किया गया। यह भी पहली बार है कि भारतीय प्रायद्वीप में ही स्थित दोनों समुद्र में अभ्यास हुआ। दूसरा, इसमें अमेरिकी नौसेना, जापान की मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स, रॉयल ऑस्ट्रेलियन नेवी और भारतीय नौसेना ने हिस्सा लिया।

लंबे अंतराल के बाद यह कोरम पूरा हुआ है। तीसरा, विभिन्न देशों की सेनाओं के बीच असाधारण सैन्य कौशल का प्रदर्शन हुआ। अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं ने मलाबार सैन्य अभ्यास को काफी सफल करार दिया और योजना, नेतृत्व, क्रियान्वयन और मेहमाननवाजी के लिए भारतीय नौसेना का धन्यवाद किया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: